Hubstd.in

Big Study Platform

  • Home
  • /
  • अपठित गद्यांश

भारतीय संस्कृति में गुरु-शिष्य सम्बन्ध | कक्षा-12 अपठित गद्यांश

जिसे भारतीय संस्कृति कहा जाना चाहिए, वह आज भारतीय, मानसिक क्षितिज में क्रियाशील नहीं है। आज एक प्रकार की अव्यवस्थित […]

देश का आर्थिक विकास | कक्षा-10 साहित्यिक गद्यांश (450 से 700 शब्द

उद्योग किसी देश की अर्थव्यवस्था तथा वहाँ के निवासियों के जीवन में महत्त्वपूर्ण भूमिका निर्वाह करते हैं। औद्योगीकरण से देश की अर्थव्यवस्था का विकास होता है। उद्योगों द्वारा लोगों के दैनिक जीवन में काम आनेवाली वस्तुओं का निर्माण किया जाता है और उद्योग लोगों की दैनिक आवश्यकताओं को पूरा करते हैं।

हमारी सांस्कृतिक एकता | कक्षा-10 साहित्यिक गद्यांश (450 से 700) शब्द

हमारे देश ने आलोक व अन्धकार के अनेक युग पार किए हैं, परन्तु अपने सांस्कृतिक उत्तराधिकार के प्रति वह एकान्त सावधान रहा है। उसमें अनेक विचारधाराएँ समाहित हो गईं, अनेक मान्यताओं ने स्थान पाया, पर उसका व्यक्तित्व सार्वभौम होकर भी उसी का रहा।

अद्भुत शनि | कक्षा-10 साहित्यिक गद्यांश (450 से 700 शब्द)

शनि हमारे सौरमण्डल का सबसे सुन्दर ग्रह है। सौरमण्डल के सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति के बाद शनि का दूसरा स्थान है। यह ग्रह हमारी पृथ्वी से करीब 750 गुना बड़ा है। सूर्य से शनि की दूरी 143 करोड़ किलोमीटर है। हमारी पृथ्वी सूर्य से 15 करोड़ किलोमीटर दूर है।

राष्ट्र का स्वरूप | कक्षा-10 साहित्यिक गद्यांश (450 से 700 शब्द)

धरती माता की कोख में जो अमूल्य निधियाँ भरी हैं, जिनके कारण यह वसुन्धरा कहलाती है, उनसे कौन परिचित न होना चाहेगा? लाखों-करोड़ों वर्षों से अनेक प्रकार की धातुओं को पृथ्वी के गर्भ में पोषण मिला है। दिन-रात बहनेवाली नदियों ने पहाड़ों को पीस-पीसकर अगणित प्रकार की मिट्टियों से पृथ्वी की देह को सजाया है।

downlaod app