Hubstd.in

Big Study Platform

  • Home
  • /
  • Other
  • /
  • नदियों पर बांध क्यों बनाए जाते हैं?
No ratings yet.

नदियों पर बांध क्यों बनाए जाते हैं?

नदियों पर बांध इसलिए बनते हैं क्योंकि बांध, देश के समग्र बुनियादी ढांचे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। जल विद्युत के उत्पादन के लिए प्रायः पहाड़ी ढालों पर नदियों के रास्ते में बड़े बाँध बनाने की आवश्यकता होती है। इससे पानी का रास्ता रुक जाता है और पानी बांध में एकत्र होने लगता है।

जब बाँध में पानी का तल पर्याप्त ऊँचाई प्राप्त कर लेता है तो इस जल को पानी के पाइपों या सुरंगों के रास्ते से टरबाइनों तक ले जाते है। इससे बाँध में रुके हुए पानी की स्थितिज कर्जा, गतिज ऊर्जा में बदल जाती है। (potential energy is converted into kinetic energy) पानी की गतिज ऊर्जा टरबाइन चलाने में खर्च होती है। इससे टरबाइन के साथ जुड़े जनित्र चलने लगते है तथा जल – विद्युत का उत्पादन (generation of electricity) करते है। इसलिए हम नदियों पर बाँध बनाना चाहते है।

इन्हें भी पढ़ें: हरित क्रांति से आप क्या समझते हैं? | Harit kranti kya hai

नदियों पर बांध क्यों बनाए जाते हैं
नदियों पर बांध क्यों बनाए जाते हैं

नदियों पर बांध बनाने के कारण?

नदियों पर बांध (dams on rivers) इसलिए बनते हैं क्योंकि बांध देश के समग्र बुनियादी ढांचे में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। बांध एक संरचना है जो पानी को वापस रखने के लिए एक धारा या नदी के पार बनाई जाती है। बांधों का उपयोग पानी को स्टोर करने, बाढ़ को नियंत्रित करने और बिजली पैदा करने के लिए किया जा सकता है। बांध पानी के संरक्षण के लिए नदियों, नालों या मुहल्लों पर बनाई जाती है। यह सीधे लोगों को उपभोग, औद्योगिक और सिंचाई उद्देश्यों के लिए पर्याप्त पानी की आपूर्ति करने में मदद करता है। कई प्रकार के आर्थिक, पर्यावरणीय और सामाजिक लाभ प्रदान करते हैं

इन्हें भी पढ़ें: भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व लिखिए।

नदियों पर बाँध बनाने के विरोध में मुख्यत : निम्नलिखित समस्याओं की चर्चा होती है-

  • उपजाऊ भूमि का बहुत बड़ा क्षेत्र बाँध के पानी में डूब जाता है।
  • बाँध के इब क्षेत्र में आने वाले गाँव तथा शहरों के लोगों को विस्थापन का दंश झेलना पड़ता है।
  • बांध के आस – पास के क्षेत्रों के पर्यावरण में अनैच्छिक परिवर्तन आ जाते हैं।
  • बाँध के डूब क्षेत्र में आने वाली वनस्पति जल में डूबने के बाद मेथेन गैस उत्पन्न करती है जो ग्रीन हाउस प्रभाव उत्पन्न करती है।

इन्हें भी पढ़ें: भारत में निर्धनता के कारण? | Bharat mein nirdhanta ke karan

नदियों पर बांध क्यों बनते हैं?

बांध, पानी को बनाए रखने के लिए एक धारा, एक नदी या एक मुहाना के पार निर्मित संरचना। मानव उपभोग के लिए, शुष्क और अर्ध-शुष्क भूमि की सिंचाई के लिए, या औद्योगिक प्रक्रियाओं में उपयोग के लिए पानी उपलब्ध कराने के लिए बांध बनाए जाते हैं। बांध तैराकी, नौका विहार और मछली पकड़ने जैसी मनोरंजक गतिविधियों के लिए एक झील भी प्रदान कर सकते हैं।

क्या बांध बनाने के लिए नदी चाहिए?

बांध के निर्माण के लिए शुष्क क्षेत्र बनाने के लिए नदियों और नदियों को मोड़ना पड़ता है। छोटी नदियों और नालों को आमतौर पर एक सुरंग या एक चैनल के माध्यम से मोड़ दिया जाता है जो बांध के चारों ओर बना होता है। कभी-कभी, बड़ी मात्रा में बहने वाले पानी के साथ चौड़ी नदियों पर बांध बनाए जाते हैं।

बांध क्यों जरूरी हैं?

बांध महत्वपूर्ण हैं क्योंकि वे घरेलू, उद्योग और सिंचाई उद्देश्यों के लिए पानी उपलब्ध कराते हैं। बांध अक्सर पनबिजली उत्पादन और नदी नेविगेशन भी प्रदान करते हैं। घरेलू उपयोग में रोज़मर्रा की गतिविधियाँ शामिल हैं जैसे पीने के लिए पानी, खाना बनाना, स्नान करना, धुलाई, और लॉन और बगीचे में पानी देना।

बांधों के 5 लाभ क्या हैं?

बांधों के लाभ
1) मनोरंजन। बांध संयुक्त राज्य भर में प्रमुख मनोरंजक सुविधाएं प्रदान करते हैं।
2) बाढ़ नियंत्रण। किसानों की मदद करने के अलावा, बांध बाढ़ से होने वाले जीवन और संपत्ति के 1) 3) नुकसान को रोकने में मदद करते हैं।
4) पानी का भंडारण।
5) सिंचाई।
6) माइन टेलिंग्स।
7) विद्युत उत्पादन।
8) मलबा नियंत्रण।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

downlaod app