1. Home
  2. /
  3. Other

Category: Other

माँग के नियम | नियम की मान्यताएँ | प्रभावित करने वाले कारक

यह स्पष्टतः अनुभव करते हैं कि वस्तु के मूल्य में वृद्धि होने से उसकी माँग कम हो जाती है

12 Views |
Other

स्वयं प्रकाश का जीवन परिचय, उपन्यास, साहित्यिक विशेषताएँ, तथा भाषा-शैली

स्वयं प्रकाश का जीवन परिचय? जीवन–परिचय: स्वयं प्रकाश हिंदी के जाने-माने कथाकार थे। प्रसिद्ध कहानीकार/गद्यकार स्वयं प्रकाश जी का बचपन राजस्थान में व्यतीत हुआ। राजस्थान से अध्ययन पूरा कर मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करके…read more »

146 Views |
Other

पारितंत्र कितने प्रकार के होते हैं, इसके घटक कौन-कौन से हैं?

किसी दिए गए क्षेत्र में जीवित जीवों और उनके परिवेश के बीच परस्पर क्रिया पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करती है। सभी जीवित घटक जैसे पौधे, जानवर और सूक्ष्मजीव जैविक कारकों…read more »

3491 Views |
विज्ञान (science)

12 khadi, barah khadi in hindi to english full chart pdf download, barakhadi (बारहखड़ी), 12 खड़ी

बरखाड़ी क्या है ओर किसे कहते हैं? हिन्दी बारहखड़ी कुछ शब्दों (या वर्णो) का वह बहुत बड़ा भंडार है जिसमें हम किसी भी भाषा की सामान्य चीजें जैसे मात्राएं आदि…read more »

382 Views |
Other

#4 हिन्दी कथा साहित्य ( उपन्यास और कहानी ) व्याख्याएँ : ‘सुखदा’ B.A-1st Year, Hindi-2

(17) जमना आने पर ———— नहीं हो पाता। प्रसंग – क्रान्तिकारी सिद्धान्तों के विपरीत लाल सुखदा के साथ एक अलग मकान में रहने लगा है , वह भवन क्रान्तिकारी संघ…read more »

133 Views |
Other

#3 हिन्दी कथा साहित्य ( उपन्यास और कहानी ) व्याख्याएँ : ‘सुखदा’ B.A-1st Year, Hindi-2

(12) मैं स्त्री के इस ———— आधार पर चलें। प्रसंग – लाल सुखदा के रुपये लौटाने आया हुआ है और मौका पाकर सुखदा को विलासकक्ष में आने के लिए कहता…read more »

107 Views |
Other

#2 हिन्दी कथा साहित्य ( उपन्यास और कहानी ) व्याख्याएँ : ‘सुखदा’ B.A-1st year, Hindi-2

(5) समझ में नहीं आता ———— काँप जाती हूँ। प्रसंग – सुखदा के घर पर एक बालक गंगासिंह नौकर बनकर रहता था। बाद में पता चलता है कि वह क्रान्तिकारी…read more »

198 Views |
Other

#1 हिन्दी कथा साहित्य ( उपन्यास और कहानी ) व्याख्याएँ : ‘सुखदा’ B.A-1st year, Hindi-2

(1) बस केवल ———— हमारा क्षितिज ! सन्दर्भ– यह अंश जैनेन्द्र कुमार द्वारा लिखित उपन्यास ‘ सुखदा ‘ से लिया गया है । प्रसंग – असाध्य तपेदिक रोग से पीड़ित…read more »

2917 Views |
Other

प्लास्टिक (plastic) अपशिष्टों का निस्तारण क्यों कठिन है?

प्लास्टिक अपशिष्टों का निस्तारण- पॉलीथीन व प्लास्टिक का उपयोग अब व्यापक रूप से बढ़ता जा रहा है। अस्सी के दशक तक हाट-बाजार से उपभोक्ता वस्तुएँ कागज के लिफाफों अथवा हल्के…read more »

90 Views |
Other

मानवाधिकार (human rights) का वर्णन कीजिए।

मानवाधिकार का तात्पर्य – सामाजिक जीवन में मानव को अपने व्यक्तित्व के विकास व समाज में स्थान निर्धारण के लिए कुछ अधिकारों की आवश्यकता होती है। अधिकारों के अभाव में…read more »

216 Views |
Other