Hubstd.in

Big Study Platform

  • Home
  • /
  • हिन्दी
  • /
  • आलेख किसे कहते है?, परिभाषा, प्रकार
(2.7★/3 Votes)

आलेख किसे कहते है?, परिभाषा, प्रकार

आलेख एक लेखन की एक विधा है जिसमें किसी विषय पर विस्तृत जानकारी दी जाती है। आलेख में किसी भी विषय को गहराई से समझाया जा सकता है। यह एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा लेखक अपने विचारों और ज्ञान को पाठकों तक पहुंचा सकता है।

आलेख शब्द उपसर्ग और लेख शब्द से मिलकर बना है। उपचार का क्या अर्थ है आचड़ सर्गड समस्त अर्थात आलेख गद्य लेखक कि वह विद्या है जिनसे किसी विषय पर ताज गीन विज्ञान शांत करने वाला है सर्गड लेख हो तो उसे आलेख कहते हैं।

आलेख एक गद्य लेखन शैली है जिसमें किसी एक विषय पर विस्तार से लिखा जाता है। आलेख में तथ्यों, विचारों और भावनाओं का समावेश होता है। आलेख का उद्देश्य किसी विषय को पाठकों के समक्ष रोचक और उद्देश्यपूर्ण तरीके से प्रस्तुत करना होता है।

आलेख की परिभाषा

आलेख को हिंदी में ‘निबंध’ भी कहा जाता है। आलेख एक ऐसा साहित्यिक रचना है जो किसी एक विषय पर केंद्रित होती है और उस विषय के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करती है।

आलेख की प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं:

  • यह किसी एक विषय पर केंद्रित होता है
  • इसमें विषय के बारे में गहराई से जानकारी दी जाती है
  • इसकी भाषा सरल और सहज होती है
  • इसमें तथ्यों के साथ-साथ व्यक्तिगत विचार भी शामिल होते हैं
  • इसकी शैली वर्णनात्मक, तर्कसंगत और रोचक होती है
आलेख एक लेखन की एक विधा है जिसमें किसी विषय पर विस्तृत जानकारी दी जाती है। आलेख में किसी भी विषय को गहराई से समझाया जा सकता है। यह एक ऐसा माध्यम है जिसके द्वारा लेखक अपने विचारों और ज्ञान को पाठकों तक पहुंचा सकता है।

आलेख के प्रकार

आलेख को कई प्रकार से वर्गीकृत किया जा सकता है, जैसे:

1. विषय के आधार पर

  • वैज्ञानिक आलेख – विज्ञान से संबंधित
  • दार्शनिक आलेख – दर्शन शास्त्र से संबंधित
  • सामाजिक आलेख – समाज से संबंधित
  • ऐतिहासिक आलेख – इतिहास से संबंधित
  • साहित्यिक आलेख – साहित्य से संबंधित

2. उद्देश्य के आधार पर

  • विवरणात्मक आलेख – किसी विषय का वर्णन करते हैं
  • विश्लेषणात्मक आलेख – किसी विषय का विश्लेषण करते हैं
  • तुलनात्मक आलेख – दो विषयों की तुलना करते हैं
  • समीक्षात्मक आलेख – किसी विषय पर समीक्षा प्रस्तुत करते हैं

3. शैली के आधार पर

  • विनोदी आलेख – हास्य और व्यंग्य से भरपूर
  • गंभीर आलेख – गंभीर शैली में लिखे जाते हैं
  • व्याख्यात्मक आलेख – किसी बात की व्याख्या करते हैं
  • वक्तव्यात्मक आलेख – लेखक के विचार प्रस्तुत करते हैं

आलेख लेखन कैसे करें?

एक अच्छा आलेख लिखने के लिए निम्न बातों का ध्यान रखना चाहिए:

विषय चुनें

सबसे पहले एक अच्छा, रोचक और जानकारीपूर्ण विषय चुनें। विषय ऐसा हो जिसपर आपको लिखने में रुचि हो।

शोध करें

विषय से संबंधित सारी जानकारी एकत्र करें। इंटरनेट, पुस्तकें, लेख आदि सभी स्रोतों का उपयोग करें।

मुख्य बिंदुओं की सूची बनाएँ

जुटाई गई जानकारी को वर्गीकृत करते हुए मुख्य बिंदुओं की एक सूची तैयार करें।

रूपरेखा बनाएँ

आलेख की रूपरेखा तैयार करें। इसमें परिचय, मुख्य शीर्षक, उपशीर्षक शामिल हों।

पहला मसौदा लिखें

अब रूपरेखा के आधार पर आलेख का पहला मसौदा तैयार करें। सभी मुख्य बिंदुओं को शामिल करें।

संपादन करें

पहला मसौदा तैयार होने के बाद इसका संपादन करें। जरूरत पड़ने पर जानकारी जोड़ें या हटाएं।

अंतिम मसौदा

संपादन के बाद अंतिम मसौदा तैयार करें और शैलीगत रूप से इसे सुधारें।

आलेख के गुण

एक अच्छा आलेख में कुछ आवश्यक गुण होते हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख गुण हैं:

  • स्पष्टता: एक अच्छा आलेख को स्पष्ट और सुबोध होना चाहिए। पाठकों को आलेख को पढ़ने में किसी भी प्रकार की कठिनाई नहीं होनी चाहिए।
  • सटीकता: एक अच्छा आलेख तथ्यों और जानकारी के सटीक होने चाहिए। पाठकों को आश्वस्त होना चाहिए कि आलेख में दी गई जानकारी सही है।
  • रोचकता: एक अच्छा आलेख पाठकों को रोचक और मनोरंजक होना चाहिए। पाठकों को आलेख को पढ़ने में आनंद मिलना चाहिए।
  • उद्देश्यपूर्णता: एक अच्छा आलेख का एक स्पष्ट उद्देश्य होना चाहिए। पाठकों को यह पता होना चाहिए कि आलेख का उद्देश्य क्या है।
  • प्रभावशीलता: एक अच्छा आलेख पाठकों को प्रभावित करना चाहिए। पाठकों को आलेख के बाद किसी भी प्रकार का बदलाव महसूस करना चाहिए।

आलेख की महत्वपूर्णता | आलेख का महत्व:

आलेख विषय की गहरी समझ प्रदान करता है और पाठकों को विषय पर विचार करने के लिए प्रेरित करता है। यह विषय की विस्तृत जानकारी प्रदान करता है और विचारात्मक दृष्टिकोण से पाठकों को जोड़ता है।

एक अच्छे आलेख लेखन के सुझाव

आलेख लेखन एक कला है और इसमें निपुणता प्राप्त करने के लिए निरंतर अभ्यास और प्रयास की आवश्यकता होती है। कुछ महत्वपूर्ण टिप्स जो आलेख लेखन में मदद कर सकते हैं, वे हैं:

  • विषय का चयन: सबसे पहले, आपको एक ऐसा विषय चुनना चाहिए जिसे आप अच्छी तरह से जानते हैं और जिस पर आप लिखना चाहते हैं।
  • शोध: विषय के बारे में अच्छी तरह से जानने के लिए, आपको पर्याप्त शोध करना होगा। आप पुस्तकों, लेखों, समाचार पत्रों, पत्रिकाओं, वेबसाइटों आदि का उपयोग कर सकते हैं।
  • योजना: एक बार जब आप विषय के बारे में पर्याप्त जानकारी प्राप्त कर लेते हैं, तो आपको एक योजना बनानी होगी। योजना में आपको आलेख के मुख्य बिंदुओं को शामिल करना होगा।
  • लिखना: योजना के आधार पर, आप आलेख लिखना शुरू कर सकते हैं। ध्यान रखें कि आलेख स्पष्ट, सटीक, रोचक और उद्देश्यपूर्ण होना चाहिए।
  • संपादन: आलेख लिखने के बाद, आपको इसे संपादित करना होगा। संपादन में आपको त्रुटियों को सुधारना, शब्दों और वाक्यों को बदलना और आलेख को और अधिक प्रभावी बनाना शामिल है।
  • प्रकाशन: आलेख को प्रकाशित करने के लिए, आप इसे एक समाचार पत्र, पत्रिका, वेबसाइट आदि में भेज सकते हैं। आप इसे अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर भी प्रकाशित कर सकते हैं।

आलेख लेखन के लाभ

आलेख लेखन के कई लाभ हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख लाभ हैं:

  • आलेख लेखन एक रचनात्मक और आत्म-अभिव्यक्तिपूर्ण गतिविधि है।
  • आलेख लेखन आपको अपने विचारों

प्रश्न ओर अत्तर (FAQ)

आलेख कैसे बनाते हैं?

1.नयापन एवं ताजगी।
2.जिज्ञासा शील।
3.विचार स्पष्ट और बेबाकीपूर्ण ।
4.भाषा सहज, सरल और प्रभाववाला।
5.एक ही बात दोबारा लिखी जाए।
6.विश्लेषण शैली का प्रयोग।

फीचर और समाचार में क्या अंतर है?

समाचार और विशेषता में प्रमुख अंतर प्रस्तुतीकरण की शैली और विषयवस्तु की मात्रा का होता है। जहाँ उल्टा पिरामिड शैली में लिखा गया समाचार किसी विषय या घटना को संक्षिप्त रूप में प्रस्तुत करता है, वहीं विशेषता उस समाचार को विस्तार से उपस्थित करता है।

आलेख के मुख्य अंग कौन कौन से हैं?

पृष्ठभूमि, विषय का प्रतिपादन, तुलनात्मक चर्चा व परिणाम सबसे पहले शीर्षक के अनुकूल भूमिका लिखी जाती है। यह बहुत लंबी न होकर संक्षेप में होनी चाहिए। विषय के प्रतिपादन में विषय का वर्गीकरण, बनावट, रूप व क्षेत्र आते हैं। इसमें विषय का क्रमिक विकास किया जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

downlaod app